इन नरभक्षियों ने खाया इंसानों का मांस, फिर बताया कैसा होता है स्वाद?

10 Real Cannibals Story in Hindi : यह ख्याल ही अपने आप में खौफनाक है कि इंसान के मांस का स्वाद कैसा होता है? फिर भी दुनिया में कई लोग इतने मांसाहारी हैं कि वे इस सवाल का जवाब जानना चाहते हैं। इंसानों का मांस लगभग हर मुल्क में गैरकानूनी है, लेकिन दुनिया के कई देशों में कई लोगों ने आदमियों के मांस का स्वाद चखा है। ऐसे ही कुछ लोगों के अनुभव हम आपको बता रहे हैं। ये लोग पूरी दुनिया में इंसानों का मांस खाने के लिए कुख्यात हैं।
अलेक्जेंडर पियर्स (Alexander pierce)
“आदमी का मांस काफी स्वादिष्ट होता है। यह फिश या पोर्क से अधिक अच्छा लगता है।”
अलेक्जेंडर पियर्स, आयरलैंड में ह्यूमन मीट खाने के दोषी (फांसी से ठीक पहले दिया यह बयान)
10 Real Cannibals Story in Hindi
(नरभक्षी एर्मिन म्यूज और अलेक्जेंडर पियर्स)
एर्मिन म्यूज (Armin meiwes)
“मैंने इंसान के मांस को नमक, मिर्च, लहसुन और जायफल के साथ मिलाकर तला। आलू और ग्रीन चटनी के साथ इसे खाया। यह पोर्क जैसा लगता है, लेकिन पोर्क से थोड़ा अधिक तीखा और तगड़ा। यह बहुत अच्छा लगता है।”
एर्मिन म्यूज, जर्मनी का नरभक्षी, एक टीवी इंटरव्यू में
ओमइमा नेल्सन (Omaima Nelson)
‘इट्स सो स्वीट।’
ओमइमा नेल्सन, इजिप्ट की एक मॉडल, अपने पति का मांस खाने पर
Narbhakshi insano ki sachhi kahani
(ओमइमा नेल्सन और डोरेंगल वर्गाज)
डोरेंगल वर्गाज (Dorangel Vargas)
‘मैं सिर्फ उन्हीं हिस्सों को खाता हूं जिनमें काफी मसल होता है, खासकर जांघ जैसे हिस्से। मैं जीभ के साथ काफी स्वादिष्ट मुरब्बा जैसा बना सकता हूं और मैं आंख का इस्तेमाल हेल्दी सूप बनाने में करता हूं।”
डोरेंगल वर्गाज, सीरियल किलर, वेनेजुएला
इसेई सागवा (Issei Sagawa)
मैंने इसे ऐसे चबाया जैसे हम जापान के किसी सुशी रेस्त्रा में ट्यूना मछली का स्वाद लेते हैं।
इसेई सागवा, मर्डरर, जापान (पीड़ित का एक टूकड़ा खा जाने पर)
Dorangel Vargas. William Seabrook & Issei Sagawa story in Hindi
(विलियम सीब्रूक और इसेई सागवा)
विलियम सीब्रूक (William Seabrook)
‘यह इतना अच्छा था, जैसे किसी बड़े बछड़े का मांस खा रहे हों, लेकिन यह बीफ जैसा भी नहीं था। इसका स्वाद बिल्कुल ऐसा था, जैसा आज तक मैंने किसी और मीट में नहीं पाया। यह मुलायम था, लेकिन बकड़े या पोर्क की तरह इसे नहीं बयां किया जा सकता।’
विलियम सीब्रूक, एक खोजी जिसने पश्चिमी अफ्रीका के दौरे पर इंसानी मांस का स्वाद चखा।
अलफ्रेड पैकर (Alferd packer)
‘आदमी की छाती… मैंने अब तक जितना मांस चखा है उसमें सबसे स्वादिष्ट होता है।’
अलफ्रेड पैकर, ह्यूमन मीट इटर, अमेरिका
Alferd packer ki kahani
(अलफ्रेड पैकर)
गुआंग ली, कनाडा ( Weiguang Li, Canada)
1968 में चीन में जन्म लेने वाले गुआंग ली 2001 में कनाडा चले गए। यहां इन्होंने कई हत्याएं की और आदमियों का मांस खाया। फिलहाल जेल में बंद हैं।
Weiguang Li, Canada Real story in Hindi
गुआंग ली
जर्नो एल्ग, फिनलैंड (Jarno Elg, Finland)
फिनलैंड के जर्नो एल्ग ने पहली बार 1998 में एक आदमी की हत्या की और फिर उसका मांस खाया। इसके बाद इन्होंने कुछ और वारदातें की। फिलहाल फिनलैंड की जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे हैं।
Jarno Elg, Finland History in Hindi
जर्नो एल्ग, फिनलैंड
पीटर ब्रायन, लंदन (Peter Bryan, England)
पीटर ब्रायन लंदन में 2005 में आदमियों को मारने और उनका मांस खाने के लिए दोषी ठहराए गए।
Peter Bryan, England Story in Hindi
पीटर ब्रायन, लंदन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *