कहानी 10 इंसानो की जो सालों तक अकेले ही रहे जंगली जानवरों के बीच

10 People Who Lived Among Wild Animals in Hindi : जानवरों के साथ करीबियत कोई नई बात नहीं है, लेकिन क्या आप सोच सकते हैं कि आपको चार साल की उम्र में जंगलों में छोड़ दिया जाए तो क्या होगा ? क्या आप जानवरों के साथ घुल मिल जाएंगे और उन्हीं के साथ रहने लगेंगे? यह मुश्किल सवाल है, लेकिन कई लोगों के साथ ऐसा हो चुका है। कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने बुरे वक्त में जानवरों के साथ इंसानों से बेहतर संबंध बनाए। जानवरों ने भी उनकी काफी मदद की। आज इस लेख में हम आपको 10 ऐसे इंसानो की कहानी बताएंगे जो या तो मजबूरीवश या फिर अपनी इच्छा से अकेले ही कई सालो तक जंगली जानवरों के साथ रहे।
1. मैरिना चैपमैन (Marina Chapman)
 Marina Chapman Story in Hindi
पांच साल की उम्र में मैरिना को कुछ लोगों ने किडनैप कर लिया और एक जंगल के बीच में छोड़ दिया। जंगल में किसी इंसान को नहीं पाकर वह एक बंदरों के समूह के साथ रहने लगी। बंदरों की मदद से उसे जंगल में खाने के लिए फल मिल जाते थे। कई सालों तक उनके साथ रहने से वह इंसानी भाषा भूल गई और जानवरों की तरह ही हाथ और पैर जमीन पर रखकर चलने लगी। बाद में उसे शिकारियों ने पकड़ लिया और एक वेश्यालय को बेच दिया। लेकिन बाद में वहां से भागने में सफल रही और अब इंग्लैंड के ब्रैडफोर्ड में रहती है।
2. मर्कोज रोड्रीगेज पंटोजा (Marcos Rodriguez Pantoja)Marcos Rodriguez Pantoja Story in Hindi
मर्कोज रोड्रीगेज पंटोजा करीब 12 साल तक पहाड़ों पर जानवरों के साथ रहे। उन्होंने कई जानवरों के साथ वक्त बिताया। दरअसल, वे एक किसान के साथ रहते थे और किसान की मृत्यु के बाद अकेले हो गए और जंगल की ओर चले गए। उन्होंने खुद के जीने के लिए जानवरों के साथ रहना सीखा। कहते हैं कि एक गुफा के एक सांप और कुछ लोमड़ी से उनकी काफी नजदीकी हो गई थी। हालांिक बाद में पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया और फिर वह एक गांव में रहने लगे।
3. त्रैन काल्डरर (Traian Caldarar)
 Traian Caldarar ki kahani
त्रैन काल्डरर रोमानिया में रहता था। लेकिन सिर्फ 3 या 4 साल की उम्र में अपने पिता से तंग आकर वह जंगलों में चला गया और वहीं रहने लगा। बाद में सात साल की उम्र में उसे लोगों ने पकड़ लिया। तब मालूम हुआ कि वह इतने दिन सिर्फ इसलिए जिंदा रह पाया क्योंकि कुछ आवारा कुत्ते उसका साथ देते थे। जंगल में आवारा कुत्तों के साथ वह बहुत सहज रूप से रहता था।
4.  डायन फोसी  (Dian Fossey)
 Dian Fossey History in Hindi
अमेरिका की डायन फोसी पहले तो महीनों जानवरों को ऑब्जर्व करती रहीं और फिर उनके साथ घुल-मिल भी गई। वह कांगो और रवांडा में गोरिल्ला के साथ रहती थी। उसने एक बेस्टसेलिंग किताब लिखी जिस पर बाद में गोरिल्ला इन द मिस्ट फिल्म भी बनी है। हालांकि 1985 में रहस्यमई तरीके से उसे मार दिया गया। कुछ पर्यावरण कार्यकर्ता पर ही उसकी हत्या करने का आरोप लगा।
5. जेम्स जोबलोन (James Joblon)
 James Joblon Story in Hindi
अमेरिका के हर्नांडो काउंटी में एक एनिमल रिहैबिलिटेशन सेंटर के फाउंडर जेम्स जोबलोन शेर के साथ रहने लगे। दरअसल, शुरू में उनका इरादा था लोगों को जानवरों के प्रति जागरुक करना और उनकी मदद के लिए फंड इकट्ठा करना। वे शेर के साथ न सिर्फ खाते थे, घूमते थे बल्कि सोते भी थे। बदले में उनके शरीर पर मामलू सी कुछ खरोंचे दिखाई देती थी। हालांकि इसका फायदा हुआ और 4 करोड़ 68 लाख रुपए चंदे के रूप में इकट्ठा हो गए।
6. जाने गुडॉल (Jane Goodall)
 Jane Goodall Story in Hindi
जाने गुडॉल तंजानिया के नेशनल पार्क में काम करती थी। 30 साल वहां बिताते हुए वह जानवरों के काफी करीब हो गई। चिंपैंजी जैसे कुछ जानवरों के साथ उनके संबंध काफी मजबूत थे। वह उसके साथ गले मिलती, किस करती और खाना भी खाती।
7. जॉन सेबुन्या (John Ssebunya)
 John Ssebunya Story in Hindi
जॉन सेबुन्या जब दो या तीन साल के ही थे तो उनके पापा ने मां को मार डाला और भाग गए। उस उम्र में जब बाकी बच्चे खुद से जिंदा नहीं रह पाते, जॉन ने बंदरों की मदद से जीना शुरू कर दिया। तीन साल बाद उसने बताया कि जल्दी ही बंदरों से उसकी दोस्ती हो गई थी। बंदरों ने पहले उन्हें खाना लाकर दिया फिर उसे खाना तलाशना भी सिखाया। बाद में जॉन को एक कपल ने एडॉप्ट कर लिया।
8. शॉन एलिस (Shaun Ellis)
 Shaun Ellis Story in Hindi
अपने जीवन का अधिकतर समय शॉन एलिस ने भेड़ियों के साथ बिताया है।  एक बार तो वो भेड़ियों पर रिसर्च करने के लिए अकेले ही भेड़ियों के साथ 2 साल तक रहे थे।
9. टिप्पी डेग्रे  (Tippi Degre)
 Tippi Degre Story in Hindi
कहते है की बच्चों को कुछ गुण अपने माता पिता से विरासत में मिलते है।  ऐसा ही कुछ टिप्पी डेग्रे के साथ है। टिप्पी के माता पिता वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर है उन्होंने अपनी बेटी को बचपन से ही अपने साथ रखा है। इसलिए टिप्पी का पूरा बचपन अफ़्रीकी जंगलो और अभ्यारण्यों में बिता है।  उस समय के दौरान वो जंगली जानवरों के काफी नज़दीक आई और कई जानवरों के साथ तो उसकी दोस्ती भी हो गई।
10. टिमोथी ट्रेडवेल (Timothy Treadwell)Timothy Treadwell Story in Hindi
टिमोथी ट्रेडवेल ने लगातार 13 सालो तक अपनी पूरी गर्मियां कटमई नेशनल पार्क में भूरे भालुओं के साथ बिताई। इस दौरान उनकी ग्रिज़ली भालुओं के साथ इतनी दोस्ती हो गई थी की वो उनके बच्चों को भी अपनी गोदी में उठा लेते थे। यह ध्यान रहे की ग्रिज़ली भालू सभी भालुओं में सबसे खूंखार माने जाते है तथा यह अपने बच्चों के पास किसी को नहीं आने देते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *