वास्तु के अनुसार घर में बने पूजाघर में नहीं होनी चाहिए ये गलतियां

Vastu Tips For Pooja Ghar : हर घर में भगवान का मंदिर
जरूर होता ही है। मंदिर चाहे छोटा हो या बड़ा लेकिन उसका वास्तु के अनुसार
ही होना शुभ माना जाता है। घर के मंदिर से जुड़ी ऐसी कुछ बातें हैं, जिनका
ध्यान रखना बहुत ही जरूरी होता है। वास्तु शास्त्र में बताई गई इन 6 बातों
का ध्यान न रखने पर भगवान की कृपा घर-परिवार को नहीं मिल पाती।
Vastu Tips For Pooja Ghar
इनके आस-पास न हो मंदिर
घर में मंदिर के ऊपर या आस पास बाथरूम नहीं होना चाहिए। इसके अलावा किचन
में बना मंदिर भी वास्तु में सही नहीं माना जाता। इससे बचना चाहिए।
एक घर में होना चाहिए एक मंदिर
एक घर में अलग-अलग पूजाघर बनवाने की बजाए मिल-जुलकर एक मंदिर बनवाए। एक घर
में कई मंदिर होने पर वहां के सदस्यों को मानसिक, शारीरिक और आर्थिक
समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

इस दिशा में होना चाहिए मंदिर
मंदिर पश्चिम या दक्षिण दिशा में नहीं होना चाहिए। इससे वहां के लोगों पर
अशुभ असर पड़ता है। पूजाघर पूर्व या उत्तर दिशा में होना चाहिए। इन दिशाओं
में मंदिर होने पर पॉजिटिव एनर्जी बनी रहती हैं।
मंदिरो में इस तरह रखे तस्वीरें
मूर्तियों को एक दूसरे से कम से कम 1 इंच की दूरी पर रखना चाहिए। अगर घर
में एक भगवान की दो तस्वीरें हो तो दोनों को आमने-सामने बिलकुल न रखें। ऐसा
करने से आपसी तनाव बढ़ता है।

अवश्य ध्यान रखें ये बात
मंदिर को लेकर खासतौर पर ध्यान रखें कि सोते समय घर के किसी भी सदस्य के
पैर मंदिर की ओर न हो। मंदिर या भगवान की ओर पैर करके सोना अशुभ होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *