शास्त्रों से – इन 7 जगहों पर नहीं बनाने चाहिए शारीरिक संबंध

हिन्दू ग्रंथों और पुराणों में शारीरिक संबंध से जुडी भी बहुत सी बातें
बताई गई है। इन धर्म ग्रंथों में 7 ऐसी जगह बताई गई है, जिनके आस-पास
शारीरिक संबंध बनाना बेहद अशुभ माना जाता है। ऐसा करने से इंसान पाप का
भागी बन जाता है। यह जानकारी ब्रह्मवैवर्त पुराण , प्रश्नोपनिषद, स्कन्द
पुराण , पदम् पुराण और कूर्म पुराण जैसे ग्रंथो में दी गई है।
Kahan nahi banaye sharirik sambandh

अग्नि के पास – अग्नि को हिन्दू धर्म में देवता माना गया है। इसलिए अग्नि के करीब संबंध बनाना महापाप माना जाता है।

किसी दूसरे के घर में – दोस्त हो या कोई रिश्तेदार
किसी अन्य व्यक्ति के घर जाकर जीवनसाथी से संबंध बनाना गलत माना गया है।
इससे रिश्तों में दूरियां आने की संभावनाएं होती है।

बीमार व्यक्ति के आस-पास – एक छत के नीचे, एक ही घर
में यदि कोई ऐसा व्यक्ति हो जो कई दिनों से बीमार हो या गंभीर अवस्था में
हो तो ऐसी जगह पर इससे बचना चाहिए।

नदी के पास – किसी पवित्र नदी के पास शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए। ऐसा करने से पति-पत्नी के बीच लड़ाई-झगड़ें होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

मंदिर परिसर में – शास्त्रों के अनुसार मंदिर परिसर
में यह काम वर्जित होता है, ऐसा करना महापाप के समान होता है। मंदिर के
आसपास भी ऐसे संबंध बनाना गलत माना जाता है।

कब्र के पास – ऐसी जगह जहां कोई कब्र हो, वहां संबंध
बनाना महापाप है। इन जगहों से निकलने वाली बुरी ऊर्जा पति-पत्नी के रिश्ते
को तबाह कर सकती है।

यदि पास हो कोई ब्राह्मण – अगर आसपास कोई ब्राह्मण,
ऋषि-मुनि या फिर महान पुरुष जिसे लोग आदर्श मानते हों। तो ऐसी जगह पर भी
संबंध नहीं बनाने चाहिए। ये उनका अपमान करने के समान है।

जहां कोई गुलाम हो – ऐसी जगह जहां फिलहाल कोई गुलाम हो
या पहले कभी रहा हो, वहां पर जीवनसाथी से शारीरिक निकटता की मनाही है। ये
जगहें पवित्र रिश्तें के लिए सही नहीं मानी जाती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *